• Thu. May 30th, 2024

Chandil – Decision to vote boycott :रावताड़ा के ग्रामीणों ने वोट बहिष्कार करने का लिया निर्णय, पुलिस के कार्यशैली पर उठाये कई सवाल, जानिए पूरा मामला

BySubhasish Kumar

Apr 7, 2024
Please share this News

चांडिल। सरायकेला – खरसावां जिला के चांडिल पुलिस की सक्रियता और मुस्तैदी पर ग्रामीण लगातार सवाल उठा रहे हैं. जिले में लगातार एक के बाद एक संदिग्ध मौत के मामले में चांडिल पुलिस पर प्रश्न चिन्ह उठ रहे हैं. संदिग्ध मौत का खुलासा नहीं होने से क्षेत्र के लोग पुलिस प्रशासन के प्रति नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं. यहां तक की आम जनता ने आगामी लोकसभा चुनाव में वोट नहीं डालने का  फरमान भी जारी कर दिया है.

बीते 6 मार्च चांडिल थाना क्षेत्र के रावताड़ा निवासी 19 वर्षीय करण महतो का शव संदिग्ध हालात में एनएच 32 से बरामद किया गया था. जिसके बाद मृतक करण महतो के परिजनों ने हत्या का मामला दर्ज कराकर न्याय की मांग कर रहे हैं. इसको लेकर इससे पूर्व में चांडिल थाना का घेराव किया गया था. वहीं जल्द से जल्द मामले का खुलासा करने की मांग पर एसपी तथा डीआईजी तक गुहार लगाई गई हैं. लेकिन अबतक पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है इधर चांडिल थाना क्षेत्र के रसुनिया पंचायत के ग्रामीण मृतक के परिजनों के समर्थन में भीड़ उमरने लगी है. रविवार को रावताड़ा में ग्रामीण एक जगह एकत्रित होकर वोट बहिष्कार करने की बात तक कह डाली है. ग्रामीणों ने चांडिल पुलिस पर हत्यारों को बचाने का आरोप लगाया है.  ग्रामीणों ने आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान नहीं करने का निर्णय किया है. ग्रामीणों ने कहा कि यदि न्याय नहीं मिलेगा तो हमलोग मतदान भी नहीं करेंगे. मृतक के परिजनों ने कहा कि लोकतांत्रिक देश में पुलिस प्रशासन हत्यारों का समर्थन कर रही हैं, ऐसे में लोकतंत्र कहाँ है? लोकतांत्रिक देश में कमजोर और गरीब लोगों की नहीं सुनी जा रही हैं तो मतदान करने का कोई लाभ नहीं है.
इस संदर्भ में चांडिल थाना प्रभारी वरुण यादव ने जानकारी दी कि पुलिस द्वारा लगातार जांच की जा रही है सभी छोटी-छोटी बिंदुओं पर जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है. वही आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ लिया जाएगा.
चांडिल एसडीपीओ से भी फोन करके संपर्क साधने की कोशिश की गई लेकिन उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *