• Mon. Apr 15th, 2024

निष्पक्ष निर्भीक निडर

आदित्यपुर : रिम्स हॉस्पिटल से फरार चल रहे अपराधकर्मी को पुलिस ने धर दबोचा, हत्या करने की की जा रही थी साजिश, पुलिस ने विफल करते हुए दो अपराध कर्मियों को भेजा न्यायिक हिरासत में

BySubhasish Kumar

Mar 26, 2024
Please share this News

आदित्यपुरः सरायकेला-खरसावां जिला के आरआईटी थाना पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए रवि शर्मा हत्याकांड मामले के आरोपी एवं मुरारी सिंह की हत्या की योजना बनाते दो हिस्ट्रीशीटर अपराध कर्मियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. पुलिस की गिरफ्त में आए हुए अपराध कर्मियों का नाम राजा सिंह उर्फ राजू पगला और प्रकाश गोप उर्फ छोटू गोप बताया जा रहा है. पुलिस ने दोनों आरोपी के पास से एक लोडेड देशी कट्टा और दो जिंदा गोली बरामद किया है.

इस संबंध में एसपी मनीष टोप्पो ने प्रेस वार्ता कर जानकारी दी की
उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि रिम्स में इलाजरत के दौरान फरार हुए अपराधकर्मी राजा सिंह बीते 24 मार्च को किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे है. जो लगातार आरआईटी थाना क्षेत्र में भ्रमण करते हुए दिखाई दे रहे हैं तत्पश्चात एसपी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एसडीपीओ के नेतृत्व में एक एसआईटी टीम का गठन किया. एसआईटी टीम ने आरआईटी थाना क्षेत्र में सघन छापेमारी एवं जाँच अभियान शुरू किया. जहाँ गुप्तचरो द्वारा सूचना मिली कि अपराधकर्मी राजा एक अन्य साथी के साथ कुलुपटंगा स्थित मुन्ना शर्मा के ईंट भट्ठा खरकाई नदी के किनारे बैठकर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं. सूचना के आलोक में एसआईटी टीम द्वारा छापेमारी कर राजा सिंह एवं प्रकाश गोप को अवैध लोडेड देशी कट्टा एवं गोली के साथ गिरफ्तार किया गया. पूछताछ करने पर दोनों ने बताया की आरआईटी ट्रांसपोर्ट कॉलोनी के रहने वाले मुरारी सिंह की हत्या करने की योजना बना रहे थे.मिली जानकारी के अनुसार आदित्यपुर के चर्चित रवि शर्मा हत्याकांड में मुरारी सिंह अभियुक्त रहा है. मामले में फिलहाल वह जमानत पर है. दोनों अपराधी पूर्व में मुरारी के साथ ही रहते थे, मगर अब दोनों के रास्ते अलग- अलग हो गए है.
एसपी ने जानकारी दी कि अपराधी राजा सिंह उर्फ राजू पगला के खिलाफ जमशेदपुर, सरायकेला और रांची के बरियातू सहित अन्य स्थानों में कई मामले दर्ज हैं, जबकि प्रकाश गोप उर्फ छोटू गोप के खिलाफ आरआईटी में आर्म्स एक्ट सहित अन्य मामले दर्ज है. छापेमारी दल में आदित्यपुर इंस्पेक्टर नितिन कुमार सिंह, आरआईटी थाना प्रभारी विनय कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक राजकुमार शाह, आरक्षी उधम सिंह, उमाशंकर सिंह, धीरू रजक और होमगार्ड जवान मनीष प्रसाद सिंह की भूमिका अहम रही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *