• Tue. May 21st, 2024

प० बंगाल कुल्टी, चिनाकुड़ी मे बसंती दुर्गापूजा पंडाल का हुआ उद्घाटन।

ByAdmin Office

Apr 15, 2024
Please share this News

 

 

रिपोर्ट सत्येन्द्र यादव

 

कुलटी, आसनसोल नगर निगम वार्ड संख्या 100 के चिनाकुड़ी दो नंबर मैदान इलाके मे स्थित दुर्गामंदिर मे पांचवे वर्ष भी माँ बसंती दुर्गापूजा काफी धूमधाम से मनाई जा रही है, जिसके लिए काफी भव्य तरीके से पंडाल भी बनाया गया है, जिस पूजा पंडाल का उद्घाटन मुख्य अतिथि के तौर पर पहुँचे तृणमूल के पूर्व पार्षद सह समाजसेवी रोहित नोनिया ने रविवार को फीता काट व द्वीप प्रजवलित कर किया, इस दौरान रोहित नोनिया ने कहा माँ बसंती दुर्गापूजा का अनुष्ठान शारदीय दुर्गा पूजा के ही समान है और काफी प्रभाव शाली भी है, ऐसे मे माँ के प्रति भक्ति रखने वालों की मनोकामना भी पूर्ण होती है, उन्होंने कहा वह काफी भाग्यशाली हैं की उनको इस अनुष्ठान मे उपस्थित होने के लिए माँ के दर्शन व उनकी पूजा मे शामिल होकर उनका आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए उनको आमंत्रित किया गया, उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी व अभिषेक बैनर्जी का भी कोटि -कोटि नमन किया उन्होने कहा वह अपने शिर्ष नेताओं की वजह से समाज मे उनको इतना इज्जत और सम्मान मिल रहा है, जिस इज्जत और सम्मान को कभी भुलाया नही जा सकता और ना ही वह कभी भूल पाएंगे, उन्होंने यह भी कहा की उनको समय -समय पर जिले के वरीय नेता मंत्री मलय घटक, जिलाध्यक्ष नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती, शिवदासन दासु, निगम के मेयर विधान उपाध्याय, उज्वल चटर्जी से मार्गदर्शन भी प्राप्त होता रहता है, जिस मार्गदर्शन से वह समाजसेवा के साथ -साथ पार्टी संगठन को और भी कुलटी क्षेत्र मे मजबूत बनाने के लिए प्रयासरत रहते हैं, इस बिच उन्होंने चिनाकुड़ी के ही वार्ड संख्या 101 के 9/10 नंबर इलाके मे आयोजित बाबा साहब डॉक्टर भीम राव अंबेडकर की जयंती समारोह मे उपस्थित हुए और बाबा साहब की फोटो पर पुष्प गुच्छ चढ़ाकर उनको सम्मान दिया, इस दौरान बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया, जिस रंगारंग कार्यक्रम मे भाग लेने वाले बच्चों को संस्था द्वारा सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया, इस दौरान तृणमूल नेता बिनोद साव, समाजसेवी सुजीत सिंह, रथिन चटर्जी, दीपू मंडल, अशोक नोनिया, रिंकू कर्मकार, कृष्णा हेला, नीलम नोनिया, शशि पासवान, जयंतो नोनिया सहित कई गणमान्य व्यक्ति मुख्य रूप से उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *