• Tue. Apr 16th, 2024

निष्पक्ष निर्भीक निडर

होली के अवसर पर दिल्ली में अखिल भारतीय धानुक एकता महासंघ ने मनाया होली मिलन समारोह

ByAdmin Office

Mar 28, 2024
Please share this News

 

अखिल भारतीय धानुक एकता महासंघ दिल्ली प्रदेश द्वारा देश की राजधानी नई दिल्ली में होली के अवसर पर मिलन समारोह मनाकर समाज के प्रति एकजुटाता और दिखाया।इस अवसर पर समाज के प्रति एकता एकजुटता का पर्दर्शन किया। धानुक एकता महासंघ के राष्ट्रीय टीम के राष्ट्रीय सचिव विश्वेश्वर मंडल राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भरत कुमार मंडल और एकता महासंघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता विष्णु देव मंडल भी इस कार्यक्रम में न मौजूद थे। कार्यक्रम में दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष शिव जी मंडल जी, दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष बालाकांत मंडल, दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष सुभाष कुमार मंडल , दिल्ली प्रदेश महासचिव राम लोचन मंडल , दिल्ली प्रदेश कोषाध्यक्ष रमोद् कुमार मंडल , दिल्ली प्रदेश उप कोषाध्यक्ष मनोज कुमार मंडल, दिल्ली प्रदेश प्रवक्ता शअनिल कुमार मंडल ,और एग्जीक्यूटिव मेंबर सरवन कुमार मंडल, एग्जीक्यूटिव मेंबर श्री बालचंद्र मंडल जी , सलाहकार श्री सत्यनारायण मंडल , एग्जीक्यूटिव मेंबर सुबोध कुमार मंडल , शंभू नाथ मंडल , मनोज कुमार मंडल , शंभू मंडल , और एग्जीक्यूटिव उदय कुमार मंडल, राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष इंद्रदेव मंडल, नोएडा उपाध्यक्ष रामविलास मंडल, विशिष्ट व्यक्ति अखिलेश कुमार मंडल जी, बैजू मंडल ,वशिष्ठ मंडल , शिबू मंडल देवकांत मंडल भी मौजूद थे। एकता महासंघ के द्वारा पूरे हिंदुस्तान में विभिन्न प्रदेश से लेकर जिला स्तर तक होली मिलन समारोह मनाया जाता है ,

अखिल भारतीय धानुक एकता महासंघ एक राष्ट्रीय संगठन है जो अपने सामाजिक कार्यों के लिए जाना जाता है, अपने संगठन के माध्यम से अपने जाति को कैसे एकत्रित किया जाए कैसे संगठित किया जाए और उस बीच में कैसे एक सुगंध फैलाने का होली जैसे पर्व का उपयोग करते हुए अपने धानुक जाती के साथ किस तरह मधुर संबंध स्थापित हो और भाईचारा से लेकर दुख और सुख का साथी बने इस तरफ में एकता महासंघ सदा कार्य करती आ रही है चाहे वह कन्यादान मुहिम हो चाहे वह ब्लड डोनेशन हो चाहे अपने जाति के लिए चाहे जिस क्षेत्र में हो, अनेक ऐसे ऐसे समय पर एकता महासंघ कुछ ना कुछ प्रोग्राम करती रहती है, वहां पर उपस्थित सदस्य एक दूसरे को रंग गुलाल लगाकर गले से गले मिलकर खुशियों का आदान-प्रदान किया जिससे वहां पर मौजूद आदमी काफी खुश और प्रसन्न नजर आ रहे थे साथ ही एक दूसरे को होली मुबारक होली मुबारक कहकर सब एक दूसरे को उत्साहित कर रहे थे जो दृश्य देखने में बहुत ही अविरल और अति सुंदर लग रहा था, जिसके लिए एकता महासंघ के तमाम पदाधिकारी को और दिल्ली प्रदेश टीम जो इस होली मिलन समारोह का आयोजन किया था जिसमें सारे पदाधिकारी से लेकर आम सदस्य तक का अभूतपूर्व योगदान रहा जिसके लिए एकता महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार मंडल के तरफ से और पूरे राष्ट्रीय टीम के सदस्य के तरफ से सभी सदस्यों को धन्यवाद दिया गया ,,और हार्दिक अभिनंदन भी किया गया इसअवसर पर विष्णुदेव मंडल ने कहा कि आप लोग ऐसे ही एकता महासंघ का नाम चमकाते रहे, सुगंध फैलाते रहे, और आगे बढ़ते रहें, इसी आशा के साथ आपको बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

[28/03, 05:50] Pati(HUSBAND): *बिगड़े बोल’ पर EC सख्त, कंगना-ममता के खिलाफ टिप्पणी में सुप्रिया श्रीनेत और दिलीप घोष को नोटिस_*

 

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत और भाजपा सांसद दिलीप घोष को भारत निर्वाचन आयोग ने नोटिस जारी किया है। चुनाव आयोग ने बुधवार को दिलीप घोष को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आपत्तिजनक और सुप्रिया श्रीनेत को भाजपा की लोकसभा उम्मीदवार कंगना रनौत के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

 

कंगना को मिला लोकसभा का टिकट

 

कंगना रनौत को भाजपा ने हिमाचल प्रदेश की मंडी लोकसभा सीट से मैदान में उतारा है। कंगना रनौत के चुनाव लड़ने पर कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कथित सोशल मीडिया हैडल पर एक पोस्ट की थी, जिसमें उन्होंने कंगना को लेकर आपत्तिजनक बात कही थी। हालांकि बाद में सुप्रिया ने पोस्ट को डिलेट कर दिया था।

 

चुनाव आयोग से की थी शिकायत

 

हिमाचल की मंडी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी कंगना रनौत और मंडी पर कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत व एचएस अहीर की आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर विवाद चल रहा है। मंगलवार को राष्ट्रीय महिला आयोग ने चुनाव आयोग से उनकी आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी। राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस मामले में चुनाव आयोग से तत्काल कार्रवाई की मांग की थी। साथ ही इसे महिला सम्मान और गरिमा के विरुद्ध बताया था।

 

चुनाव आयोग ने क्या कहा?

 

चुनाव आयोग (ईसी) ने कहा कि उनकी टिप्पणियां अशोभनीय और खराब थीं। चुनाव पैनल ने कहा कि प्रथम दृष्टया, दोनों टिप्पणियां आदर्श आचार संहिता और चुनाव प्रचार के दौरान राजनीतिक दलों को गरिमा बनाए रखने की सलाह का उल्लंघन थीं। दोनों को 29 मार्च शाम तक कारण बताओ नोटिस का जवाब देने को कहा गया है।

 

क्या है कंगना रनौत और सुप्रिया श्रीनेत का विवाद?

 

कंगना के विरुद्ध पोस्ट को लेकर हिमाचल प्रदेश भाजपा ने भी चुनाव आयोग से शिकायत की थी। कंगना को लेकर दरअसल पूरा विवाद तब खड़ा हुआ, जब मंडी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी कंगना को लेकर कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत के इंस्टाग्राम अकाउंट से अभिनेत्री की तस्वीर के साथ एक आपत्तिजनक पोस्ट की गई। इसमें लिखा था, ‘क्या भाव चल रहा है मंडी में कोई बताएगा?’ लेकिन विवाद बढ़ते ही सुप्रिया श्रीनेत ने पोस्ट को हटा दिया और सफाई दी कि उन्होंने ऐसा नहीं किया। बल्कि उनके मेटा (इंस्टाग्राम व फेसबुक) अकाउंट का संचालन करने वाले किसी दूसरे व्यक्ति से यह गड़बड़ी हुई है। वह किसी महिला को लेकर ऐसी आपत्तिजनक पोस्ट के बारे में सोच भी नहीं सकतीं।

 

सुप्रिया श्रीनेत ने कंगना को दिया ये जवाब

 

उन्होंने कहा कि वह उस पैरोडी अकाउंट के विरुद्ध कार्रवाई करेंगी जो उनके नाम का इस्तेमाल कर रहा है। सुप्रिया की पोस्ट के जवाब में कंगना ने कहा, ‘एक कलाकार के रूप में अपने करियर के पिछले 20 वर्षों में मैंने हर तरह की महिलाओं का किरदार निभाया है। हमें अपनी बेटियों को पूर्वाग्रहों के बंधन से मुक्त करना चाहिए। हमें उनके शरीर के अंगों के बारे में जिज्ञासा से ऊपर उठना चाहिए। हर महिला गरिमा और सम्मान की हकदार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *