• Wed. Dec 8th, 2021

अंतर्कथा

निष्पक्ष निर्भीक निडर

साहित्य

  • Home
  • डा. तेजस्विनी दीपक पाटील की तीन कविताएं

डा. तेजस्विनी दीपक पाटील की तीन कविताएं

डॉ तेजस्वनी दीपक पाटिल महाराष्ट्र सांगली स्थित कसेगांव के आर्ट्स एन्ड कॉमर्स कॉलेज में अंग्रेजी विभाग में अध्यापन कार्य से जुड़ी हैं।ये देश विदेश में अपने लेखन कार्यों सम्मानित हो…

अंजनी सरस की तीन कविताएं

युवा कवयित्री सरिता अंजनी सरस की कविताओं में जीवन के आत्मीय संधान का भाव प्रतिपाद्य के रूप में उभरता दिखायी देता है और इसमें अपने परिवेश के प्रति भी अद्भुत…

कहानी:-मर्द तो मर्द होता है

लेखक परिचय  अर्चना पांडेय ‘अर्चि’वरिष्ठ कथाकार और कवयित्री हैं,साथ ही सामाजिक सेवा और साहित्यिक गतिविधियों से जुड़े हैं। इनका जन्म 31 दिसम्बर 1983 को उत्तर प्रदेश के देवरिया जिला में…

डॉ.नामवर सिंह की आलोचना के अन्तर्विरोध

– रमेशराज ♦ तेवरी काव्य के प्रवर्तक  और चर्चित साहित्यकार रमेश राज की पुस्तक- ”कविता क्या है..?”   से लिया गया यह अंश हिंदी साहित्य के आलोचना और काव्य के प्रतिमान…

कौत्स की गुरु दक्षिणा’ के बहाने कवि ने की है शिक्षा के मूल्यों की खोज

पुस्तक समीक्षा समीक्षक :- गणेश चंद्र राही समीक्षित पुस्तक: – कौत्स की गुरु दक्षिणा प्रकाशक:  -भारतीय ज्ञानपीठ, नई दिल्ली कवि :  –     सुशील भारती कवि परिचय:- पत्रकार, साहित्यकार और…

कहानी– नसीमाबाजी

कहानी लेखक परिचय विनोद आनंद कहानीकार विनोद आनंद उर्फ विनोद कुमार मंडल, पिछले दो दशक से पत्रकारिता एवं साहित्य के क्षेत्र में निरंतर सक्रिय हैं, रांची विश्वविद्यालय से हिंदी भाषा…

कविता में निरापद भाव से जीवन के शाश्वत प्रसंगों का समावेश

पुस्तक समीक्षा समीक्षक:- राजीव कुमार झा पुस्तक का नाम : विस्मृति के बीच ( कविता संकलन ) , कवयित्री : इला कुमार , प्रकाशक : डायमंड पाकेट बुक्स ( प्रा…

कथा लेखन में हास्य व्यंग्य की सरसता के साथ जीवन के यथार्थ का चित्रण

पुस्तक समीक्ष पुस्तक का नाम : मन बोहेमियन  कथाकार : राम नगीना मौर्य पहला संस्करण : 2021 । सहयोग राशि :180 रुपये मात्र प्रकाशक : रश्मि प्रकाशन , महाराजापुरम् ,…

कलम के जादूगर मुंशी प्रेमचंद की आज है पुण्यतिथि,आज ही के दिन हुआ था उनका वनारस में निधन

आठ अक्टूबर की तारीख इतिहास में धनपत राय श्रीवास्तव की पुण्यतिथि के तौर पर दर्ज है। लोगों को यह नाम कुछ अनजाना सा लग सकता है, लेकिन अगर कहें कि…

हमारे साहित्यिक प्रतिनिधि राजीव कुमार झा से मुम्बई की युवा कवयित्री वंदना जैन से बातचीत पर आधारित उनका “आत्मकथ्य”

साक्षात्कार युवा कवयित्री वंदना जैन मुंबई में रहकर काव्य साधना में निरंतर संलग्न हैं . इनका हाल ही में प्रकाशित काव्य संग्रह ‘ कलम वंदन ‘ पठनीय है और इसमें…

error: Content is protected !!