• Sun. Feb 25th, 2024

हजारीबाग में हुए अग्निकांड में मसीहा बना आरोग्यम अस्पताल।

ByAdmin Office

Nov 29, 2023
Please share this News

 

हजारीबाग

शहर के मालवीय मार्ग कालीबाड़ी रोड के समीप सोमवार को देर शाम गायत्री टेंट हाउस के संचालक अंजन विश्वकर्मा के निवास स्थान में आग लग गई। और देखते ही देखते आग पूरी घरों में फैल गया। घर के अंदर चार सदस्य मौजूद थे। स्थानीय लोगों के प्रयास से चार सदस्यों को घर से बाहर निकाला गया।
जिसमे अन्नू 6 वर्षीय की मौत हो गई, इसके बाद सभी को सरकारी अस्पताल भेजा गया। परिजन वहां संतुष्ट न होने के बाद

हजारीबाग शहर के सबसे चर्चित आरोग्यम अस्पताल में सोमवार को भर्ती कराया गया। इसके बाद अस्पताल के चिकित्सकों की टीम
मे डॉक्टर बी. एन.प्रसाद,डॉक्टर हीरा लाल,डॉक्टर मनीष कुमार
के द्वारा अंजन विश्वकर्मा 55 वर्षीय, नीरज विश्वकर्मा 28 वर्षीय, रेखा देवी 54 वर्षीय एवं अन्वाई एक वर्षीय का इलाज किया जा रहा है।

परिजन तथा मरीज दोनों अस्पताल के इलाज से काफी संतुष्ट है। चिकित्सकों की टीम के द्वारा दिन में दो से तीन बार वार्ड में राउंड के माध्यम से उनसे जानकारी लिया जा रहा है उनका देखरेख किया जा रहा है।

वहीं मंगलवार को देर शाम सदर अनुमंडल पदाधिकारी विद्या भूषण कुमार अस्पताल परिसर पहुंचकर घायलों से हाल-चाल लिए, , घायलों के साथ मौजूद परिजनों से घटना की जानकारी ली साथ ही अस्पताल के इलाज से संतुष्ट हुए और निर्देशक तथा प्रशासक को बधाई दी। साथ ही घायलों तथा उनके परिजनों को कहा कि आपके साथ जिला प्रशासन सदैव खड़ी है।

वहीं अस्पताल के निर्देशक हर्ष अजमेरा ने कहा की लोगों की सेवा ही करना हमारा सबसे बड़ा धर्म है। मै स्वयं घायल अवस्था में आए लोगों की जानकारी ले रहा हूं, चिकित्सकों की टीम के द्वारा लगातार सेवा प्रदान की जा रही है
सोमवार की स्थिति के बाद आज की स्थिति में काफी बदलाव है। घायल अवस्था में आए सभी लोग अस्पताल के इलाज से काफी संतुष्ट है।

वहीं अस्पताल की प्रशासन जया सिंह ने कहा कि सभी कोई बहुत जल्द रिकवरी कर जाएंगे 1 वर्ष के बच्चे के चेहरे पर थोड़े से जलने की दाग आई है वह भी जल्द ही हट जाएगा। अस्पताल जिले वासियों की सेवा के लिए सदैव तत्पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!