• Mon. Jul 22nd, 2024

बैंकों के निजीकरण के खिलाफ कथारा में बैंक कर्मियों ने किया विरोध प्रदर्शन

Byadmin

Dec 16, 2021
Please share this News

कहा सरकार की गलत नीतियों की वजह से बैंक और खाताधारको को होगा भारी आर्थिक नुकसान

सरकार  सिर्फ निजी कंपनी के बड़े बड़े पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने में लगी है

ऩवीन कुमार सिन्हा की रिपोर्ट

कथारा —बैंक यूनियंस ने बैंकों के प्रस्तावित निजीकरण( बैंक प्राइवेटाइजेशन ) के खिलाफ दो दिन के हड़ताल का आह्वान किया था। जिसको लेकर हड़ताल के पहले दिन कथारा के भारतीय स्टेट बैंक , बैंक ऑफ इंडिया , सहित अन्य बैंकों के बैंक कर्मियों ने निजीकरण करण को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। रिपोर्ट के अनुसार अलग-अलग सरकारी बैंकों के करीब नौ लाख कर्मचारी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के सरकार के कदम के विरोध में आज से हड़ताल पर है।

ऐसे में आम लोगों को बैंकिंग के कामकाज निपटाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
कथारा में विरोध प्रदर्शन कर रहे बैंक ऑफ इंडिया के कथारा, बोकारो थर्मल, स्वांग आदि ब्रांच के मैनेजरो ने कहा कि सरकार द्वारा बैंकों के निजीकरण करने का प्रस्ताव गलत नीति है जिसका हम सभी बैंककर्मी विरोध करते हैं।

इसके कारण देश के साथ-साथ बैंक को काफी आर्थिक नुकसान पहुंचेगा। वहीं इसका फायदा सिर्फ बड़े-बड़े पूंजीपतियों को पहुंचाने के लिए बैंकों का निजीकरण करने का षड्यंत्र किया जा रहा है। इसकी वजह से बैंक कर्मियों के साथ साथ खाताधारकों को भी इसके परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

जब तक सरकार इस प्रस्ताव को वापस नहीं ले लेती बैंक यूनियनो के माध्यम से बैंककर्मियों का विरोध जारी रहेगा । उन्होंने कहा कि दो दिवसीय हड़ताल के दौरान सरकार ने हमारी मांगों पर सकारात्मक पहल नहीं कि तो आने वाले समय में लोकतांत्रिक तरीके से अनिश्चितकालीन हड़ताल करने की संभावित योजना है।

विरोध कर रहे बैंक कर्मियों ने सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। इस अवसर पर कथारा ब्रांच के बैंक मैनेजर शशिकांत कुमार  बोकारो थर्मल बैंक मैनेजर अमर कुमार गोमिया बैंक मैनेजर दीपक कुमार बैंक मैनेजर कोऑपरेटिव सन्नी कुमार बैंक मैनेजर संत जेवियर कुश कुमार बैंक मैनेजर पिछरी सूरज इक्का राजीव पांडे प्रणव कुमार शेफाली कुमारी दीप नारायण रजक प्रिया मल्होत्रा शिव कुमार भगत मथुरा प्रसाद नरेंद्र मुर्मू सिद्धार्थ कुमार आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *