• Tue. May 21st, 2024

बायोमेट्रिक सिस्टम लागू के बाद भी फर्जी कार्य से लाखों रुपए का हो रहा है वसूली 

ByAdmin Office

Apr 4, 2024
Please share this News

 

 

 

 

बीसीसीएल की कतरास क्षेत्र संख्या 4 अंतर्गत कोलियरी , आउट सोर्सिंग व रेल साइडिंग में कार्य कर रहे श्रमिकों लिए हाजरी बनाने के लिए बायोमेट्रिक मशीन लगाया गया , जहां कर्मी समय पर ड्यूटी आएंगे और समय से ड्यूटी से वापस घर जाएंगे , लेकिन यहां तो कुछ और ही दिखने को मिल रहा है, कर्मी ड्यूटी तो जरूर आते हैं लेकिन जैसे ही बायोमेट्रिक सिस्टम में उनके हाजिरी बन जाती है उसके बाद वह अपने और अपने परिवार के कामों में लग जाते हैं ,एवं छुट्टी करने की जब समय होता है तो कर्मी फिर बायोमेट्रिक सिस्टम के पास खड़ा हो जाते हैं और यह एहसास भी बीसीसीएल कम्पनी को कराते हैं कि मेरे द्वारा कार्य 8 घंटा लिया गया है , लेकिन यह दायित्व भूल जाते हैं कि बीसीसीएल कंपनी कार्य करने का महीने की तनखा लगभग ₹100000 दे रही है।

बता दे की बीसीसीएल के दर्जनों कर्मियों से बात किया गया है लेकिन अपना नाम नहीं छपने के शर्त पर बताया कि हाजिरी बाबू द्वारा कहा गया है कि तुम बायोमेट्रिक सिस्टम में हाजिरी बनाकर घर चले जाना और 8 घंटे के बाद फिर बायोमेट्रिक सिस्टम के पास खड़े हो जाना बाकि हम सब संभाल लेंगे, ड्यूटी नही करने के एवज में मुझे ( हाजरी बाबू) को तुम महीने का ₹5000 हज़ार प्रत्येक महीना दे देना , क्योंकि ऊपर के अधिकारियों व नेता को भी प्रसाद के रूप में बंदरबांट करना पड़ता है , जहां दर्जनों कर्मी हाजरी बाबू से आशीर्वाद प्राप्त कर रखे हैं।बायोमेट्रिक सिस्टम संचालित के बाद भी हाजिरी बाबू के पद पर रख तनख्वाह क्यों दिया जा रहा है

*यह बड़ा सवाल हैं क्योंकि इन सेंसिटिव पदों पर कई वर्षों से हाजिरी बाबू का फेर बदल नहीं होना भ्रष्टाचार के श्रेणी में माना जा रहा है । अगर इस पर गहन जांच टीम द्वारा किया जाता है तो बड़ा घोटाले से पर्दा उठ सकेगा कि इनमें कौन-कौन लोग शामिल हैं और किन-किन लोगों को पैसे कि बंटवारे किया जाता ह।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *