• Tue. Apr 16th, 2024

निष्पक्ष निर्भीक निडर

फरवरी माह के 10-12 फरवरी को होने वाले नागी पक्षी महोत्सव के सफल आयोजन को मोटरसाईकिल रैली चलकर नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र पहुॅचा।

ByAdmin Office

Jan 28, 2024
Please share this News

 

अंतर्कथा प्रतिनिधि

जमुई झाझा-: जिले में पर्यटक स्थल में अपनी पहचान स्थापित कर चुके नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र पर आगामी फरवरी माह के 10-12 फरवरी को होने वाले नागी पक्षी महोत्सव के सफल आयोजन को लेकर रविवार को पटना स्थित संजय गांधी जैविक उद्यान पटना से मोटरसाईकिल रैली चलकर नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र पहुॅचा।सनसनाइन पब्लिक स्कूल लहरनियाटांड के स्कूली बच्चे एवं डीएफओ पियूष बरनवाल सहित वनविभाग के अन्य पदाधिकारी एवं कर्मियो ने मोटरसाईकिल रैली में शामिल सभी लोगो का भव्य स्वागत किया।मोटरसाईकिल रैली की अगुवाई कर रहे हरियाणा के पुनित कुमार ने बताया कि मैने इतने जगह पर घूमा लेकिन यह मेरे लिये सबसे सुनहरा पल साबित हुआ जब मोटरसाईकिल रैली का हिस्सा बनते हुये नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र पहुॅचा और फिर यहां की खूबियो को लोगों के बीच बताने का काम करूंगा कि नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र क्यो दिन प्रतिदिन प्रसिद्ध होते जा रहा है।मोटरसाईकिल रैली में शामिल सिक्किम के असिम तमांग ने बताया कि बीते दो साल से बिहार में रह रहूंगा और कैमूर में कैंप जिला के नाम से कंपनी चलाता हूं।बिहार के हर जगहो पर घूमने के बाद यहां पर पहुॅचकर यहां के पर्यटन स्थल को देखा जिसकी चर्चा बिहार के साथ अन्य राज्यो में है।नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र से से मोटरसाइकिल रैली सोमवार को पुनःजमुई जिला के लछुआड़ सहित अन्य स्थलों पर भ्रमण किया जायेगा और लोगों को नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र के बारे में जागरूक किया जायेगा।डीएफओ ने बताया कि नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र पर पहली बार मोटरसाइकिल रैली का आयोजन किया गया।उन्होने बताया कि 10-12 द्वितीय राज्यकीय पक्षी महोत्सव का आयोजन यहां पर किया जायेगा।इस बार इस महोत्सव को नागी पक्षी आश्रयणी का ही नाम दिया गया है ताकि इस नाम से इस स्थल को और भी पहचान मिल सके।डीएफओ ने बताया कि प्रत्येक वर्ष इस आश्रयणी कंेद्र पर कई अन्य देशो से तरह तरह के पक्षी का आगमन होता है जो इस क्षेत्र की खूबसूरती को और बढ़ाते है।इसी कड़ी में पहली बार कलरव के नाम से इस स्थल पर पक्षी महोत्सव किया गया था और फिर से इस वर्ष फरवरी माह में महोत्सव होने जा रहा है जिसको लेकर नागी पक्षी आश्रयणी केंद्र पर तैयारी भी जोरो से किया जा रहा है ताकि इस बार भी पक्षी महोत्सव अपने आप में एक इतिहास रच सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *