• Mon. Jul 22nd, 2024

दिसंबर शुरू हो चुका, शुरू हो चुकी ठंड ! किसी मसीहा के इंतजार मे गरीब असहाय लोग

Byadmin

Dec 2, 2021
Please share this News

झरिया: दिसंबर शुरू हो चुका है और उससे पहले शुरू हो चुकी है हाड़ कंपकंपा देने वाली ठंड । सर्दी के इस शुरुआती सितम से सामान्य जनजीवन बुरी तरह गड़बड़ा गया है। झरिया कोयलांचल मे भी अब ठंढ का असर देखने को मिल रहा है।

हालांकि इस सुरुवती ठंढ का खामियाजा सबसे ज्यादा कोई वर्ग को भुगतना पड़ता है तो वो है गरीब असहाय मजदूर वर्ग जो फुटपाथों पर ही अपना जीवन गुजरबसर करते है। ठंड के मौसम मे भी झरिया के चौक चौराहों पर अक्सर नजारा देखने को मिल ही जाएगा जहाँ मजदूर लोगों के पास तो पहनने को गरम कपड़े या ओढ़ने को रजाई-कंबल तो दूर, तापने को सूखी लकड़ियां तक उपलब्ध नहीं हैं।

यह शीतहलर हमें बता रही है कि जब मौसम के हल्के से विचलन का सामना करने की हमारी तैयारी नहीं है और हमारी व्यवस्थाएं पंगु बनी हुई हैं। तापमान में हो रही गिरावट के चलते रात में ठंड बढ़ने लगी है, लेकिन यह ठंड आम जनमानस व बेबस लोगों को ही महसूस हो रही है इसके विपरीत जिला प्रशासन, जनप्रतिनिधि, समाजसेवी व बड़ी बड़ी इमारतों मे रहने वाले लोग अपने घरों व ऑफिस मे रूम हीटर के समक्ष गर्मागर्म चाय की चुस्कियों के साथ इस ठंड का आनंद उठा रहे हैं। शायद यही कारण है कि बढ़ती ठंड को देखने के बाद भी अभी तक जिला प्रशासन ने शहर में एक भी रैन बसेरा , गरम कपड़े व कंबल उपलब्ध करवाया और ना ही आग तापने के लिये सुखी लकड़ियों का प्रबंध कराया गया जिसका खामियाजा बेबस व बेसहारा लोगों को खुले आसमान के नीचे दिन और राते गुजारनी पड़ रही है। झरिया कोयलांचल के समाजसेवी संगठन, जनप्रतिनिधि या जिला प्रशासन के तरफ से इन गरीब तबके के मजदूरों के लिए अभी तक कोई पहल भी शुरू नही हो सकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *