• Mon. Apr 15th, 2024

निष्पक्ष निर्भीक निडर

क्या झारखंड के कांग्रेस के 12 नाराज विधायक को कांग्रेस आला कमान माना पाएंगे..जानने के लिए पढ़िए पूरे खबर

ByAdmin Office

Feb 19, 2024
Please share this News

 

 

रांचीः झारखंड कांग्रेस के नाराज 12 विधायकों को मनाने की कोशिश विफल साबित हो रही है। मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे से मुलाकात करने दिल्ली पहुंच चुके हैं, वहीं रांची में नाराज कांग्रेस विधायकों को पूर्व सीएम के छोटे भाई और पथ निर्माण मंत्री बसंत सोरेन ने मनाने की कोशिश की। लेकिन बसंत सोरेन को इसमें कोई खास कामयाबी नहीं मिली।

 

दूसरी तरफ पार्टी विधायकों की नाराजगी की खबर मिलते ही कांग्रेस आलाकमान भी एक्टिव हुये। आनन-फानन में सभी विधायकों को दिल्ली तलब किया गया हैं।

 

नाराज विधायकों को होटल में समझाने पहुंचे बसंत सोरेन

 

झारखंड कांग्रेस के 16 में से 12 विधायकों अपना एक अलग गुट बना कर चंपाई सोरेन सरकार में पार्टी कोटे से शामिल चारों मंत्रियों को बदलने की मांग कर दी है। इसे लेकर नाराज विधायक दो-तीन दिनों से लगातार बैठकें कर रहे हैं। शनिवार को भी कांग्रेस के 12 विधायकों की रांची के एक होटल में हो रही सीक्रेट मीटिंग की खबर मिलने पर मंत्री बसंत सोरेन उन्हें मनाने पहुंचे। करीब दो घंटे तक बसंत सोरेन ने उन्हें समझाने का प्रयास किया। लेकिन इसमें सफलता नहीं मिलने के बाद वे वापस लौट गए।

 

इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में बसंत सोरेन ने दावा किया कि कांग्रेस के विधायकों में कहीं कोई नाराजगी नहीं है। मन में कुछ शंका थी, जिसे दूर करने की कोशिश उन्होंने की। बसंत सोरेन ने कहा कि पूरा महागठबंधन परिवार एकजुट है। उन्होंने बताया कि उनकी ओर से कांग्रेस विधायकों को सारी चीजें स्पष्ट कर दी गई है। वे अपने आलाकमान से मिलने दिल्ली जा रहे हैं। यह उनकी पार्टी की बात है। वे दिल्ली नहीं जाएंगे।

 

कांग्रेस के 10 विधायक दिल्ली गए, दो कल जाएंगे

 

कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल सिंह उर्फ अनूप सिंह ने बताया कि पार्टी नेतृत्व पर सभी को विश्वास है। वे सभी दिल्ली जा रहे हैं। इसके बाद पर्यवेक्षक आएंगे, तो उनके सामने सारी बातें स्पष्ट कर दी जाएंगी। अनूप सिंह ने बताया कि यहां आठ विधायक मौजूद हैं। दो विधायक सीधे एयरपोर्ट पहुंच रहे हैं, जबकि दो विधायक रविवार को दिल्ली जाएंगे। उन्होंने बताया कि कांग्रेस विधायकों की आलाकमान से बात हो रही है, सभी केंद्रीय नेतृत्व से टच में हैं। हर विधायक का यह कर्तव्य है कि वो अपने दल के हित में काम करें। उन्होंने कहा कि एक मत से अपनी भावनाओं से पार्टी के सीनियर नेताओं को अवगत कराने के लिए वे सभी दिल्ली जा रहे हैं। कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद ने भी कहा कि फिलहाल वे सभी दिल्ली जा रहे हैं, उसके बाद आगे की रणनीति जाएगी। विधायक राजेश कच्छप ने कहा कि कैसे संगठन धारदार बनें और स्थिति में सुधार हो, इसे लेकर सभी प्रत्यनशील है।

 

सरकार से नाराजगी नहीं, 4 मंत्रियों को दोबारा शपथ दिलाने से नाखुश

 

कांग्रेस के नाराज विधायकों की ओर से यह भी स्पष्ट किया गया है कि वे सभी सरकार या महागठबंधन के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन तरह से सभी को विश्वास में लिए बिना कांग्रेस कोटे से पुराने मंत्रियों को ही दोबारा मंत्री पद की शपथ दिलाई गई, वह गलत है। इसलिए वे अपनी मूल मांग से एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे। अभी सभी एकजुट होकर दिल्ली जा रहे हैं।

 

सीएम चंपाई सोरेन दिल्ली में मल्लिकार्जुन खरगे से मिलेंगे

 

इधर, मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन दिल्ली पहुंच चुके हैं। चंपाई सोरेन रविवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे से मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात दौरान कांग्रेस विधायक की नाराजगी को दूर करने के उपाय पर भी चर्चा होने की संभावना हैं। इसके अलावा लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे पर सहमति बनाने की कोशिश होगी। कांग्रेस की ओर से झारखंड की 14 में से 9 सीटों पर दावेदारी की जा रही है। वहीं जेएमएम की ओर से भी सात सीटों पर दावा किया जा रहा है। इसके अलावा आरजेडी की ओर से तीन सीट और वामदलों की ओर से कम से कम एक सीट की मांग की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *