• Mon. May 23rd, 2022

अंतर्कथा

निष्पक्ष निर्भीक निडर

आज छिन्नमस्ता जयंती, यह दिन माँ छिन्नमस्ता कृपा पाने के लिए करें छिन्नमस्ता माता की पूजा

ByAdmin Office

May 14, 2022
Spread the love

*आज छिन्नमस्ता जयंती, यह दिन माँ छिन्नमस्ता कृपा पाने के लिए करें छिन्नमस्ता माता की पूजा

*

माँ छिन्नमस्ता मां काली की अवतार हैं, देवी को देश के कई हिस्सों में देवी प्रचंड चंडिका के रूप में भी जाना जाता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, छिन्नमस्ता जयंती वैशाख महीने में चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है, जो शुक्ल पक्ष की 14वीं तिथि होती है। और 2022 में यह 14 मई 2022 को मनाया जायेगा।

*छिन्नमस्ता जयंती का महत्व:*

देवी छिन्नमस्ता जीवन देने वाली होने के साथ-साथ जीवनदायिनी भी माना जाता है। छिन्नमस्ता दस महाविद्या देवी में से छठी देवी हैं। देवी अपने एक हाथ में सिर और दूसरे हाथ में कैंची पकड़े हुए, एक मैथुन करने वाले जोड़े पर खड़ी हैं। उनके गले से तीन खून की धारा निकल रहे हैं, दो धाराएँ उनके सेवकों की सहायता कर रही हैं, दाहिनी ओर दामिनी और दाहिनी ओर वर्णिनी, तीसरी धारा का स्वयं सेवन कर रही हैं। छिन्नमस्ता देवी लाखों सूर्य के समान उज्ज्वल हैं, उनका रंग गुड़हल के फूल के समान लाल है।

शत्रुओं पर विजय पाने के लिए छिन्नमस्ता माता की पूजा की जाती है और माँ के उग्र स्वभाव के कारण तांत्रिकों द्वारा यह साधना की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!