• Mon. Apr 15th, 2024

निष्पक्ष निर्भीक निडर

अस्पताल प्रबंधक की लापरवाही,सरकारी अस्पताल पर निजी क्लीनिक का पोस्टर,कही कोई साठ गांठ तो नही।

ByAdmin Office

Mar 30, 2024
Please share this News

 

जमुई झाझा- :लोकसभा चुनाव में लगे आचार संहिता को लेकर एक तरफ पूरे प्रखंड क्षेत्र में पोस्टर बैनर को हटा दिया गया तो वही इन दिनों रेफरल अस्पताल झाझा में निजी क्लीनिक के प्रचार प्रसार का स्थल बन चुका है। रेफरल अस्पताल में सरकारी दीवारों पर अलग अलग निजी क्लीनिक का पोस्टर बैनर लगा हुआ है। स्थानीय कुछ लोगों के द्वारा यह भी कहा गया कि सरकारी अस्पताल में निजी क्लीनिक का पोस्टर बैनर लगाया है वही अस्पताल के पदाधिकारी का रोज आना लगा रहता है लेकिन अस्पताल परिसर के सरकारी दीवार पर लगे पोस्टर बैनर हटाने या फिर उस निजी क्लीनिक के अस्पताल संचालकों के ऊपर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नही करना यह कहीं न कहीं लापरवाही दर्शाता है। आगे स्थानीय लोगों ने बताया कि इससे मरीज का ध्यान सरकारी अस्पताल से हटकर निजी अस्पताल की ओर चला जाता है।इसको लेकर अस्पताल में निजी क्लिीनिक के प्रचार प्रसार के लिए लगे पोस्टर बैनर को लेकर जमुई सिविल सर्जन डाॅ. कुमार महेंद्र प्रताप से संपर्क कर उनसे अस्पताल परिसर में प्रचार प्रसार के लिये लगे निजी क्लीनिक के पोस्टर बैनर पर जब पूछा गया कि अस्पताल में इस तरह के बैनर पोस्टर उचित है या अनुचित है तो उन्होनें यह कहा कि इस तरह का कोई भी निजी अस्पताल का प्रचार प्रसार का पोस्टर या बैनर लगा हुआ है तो वैसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके लिये अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी को कहा जाएगा। इस बाबत अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी डाॅ.अरूण कुमार ने बताया कि अस्पताल परिसर में लगे निजी क्लिीनिक के लगे पोस्टर, बैनर को हटवाया जाएगा और जिस भी निजी क्लीनिक का पोस्टर, बैनर लगा हुआ है उसके खिलाफ अस्पताल के तरफ से नोटिस भेजकर कार्रवाई की जाएगी। अस्पताल प्रबंधक नवनीत कुमार ने बताया कि अस्पताल में निजी क्लीनिक का पोस्टर बैनर लगाना यह गैर कानूनी है अगर ऐसा कोई किया है तो उसपर चिकित्सा प्रभारी कड़ा एक्शन लेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *